बिहार चुनाव उम्मीवार ऐसे बैठे हैं जिनपर क्रिमिनल केसेस बहुत ज्यादा है।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

बिहार: विधानसभा चुनाव होने वाले हैं सभी पार्टियों की चुनावी जनसभा जोर शोर से चल रही है । ऐसे में आप सभी को बता दे कि बिहार एक ऐसा राज्य है, जहां पर चुनाव उम्मीवार ऐसे बैठे हैं जिनपर क्रिमिनल केसेस बहुत ज्यादा है। इनमे सबसे आगे RJD राजद है।

क्रीमनल

बता दें कि बिहार विधानसभा चुनाव के 2020 के पहले चरण के इलेक्शन में लड़ने वाले प्रत्याशी 1064 हैं । जिनमे 31% यानी कि 328 उम्मीदवार ऐसे हैं जिन पर कहीं ना कहीं से कोई ना कोई जघन्य अपराधिक मामले दर्ज है।

ऐसे सभी पार्टियों में प्रत्याशी है, जिनके ऊपर अपराधिक मामले दर्ज हैं लेकिन सबसे ज्यादा संख्या लालू यादव की पार्टी (आरजेडी )राष्ट्रीय जनता दल मैं हैं । दूसरा नंबर है भारतीय जनता पार्टी, बीजेपी का है। इस बात का खुलासा एडीआर मतलब एसोसिएशन ऑफ डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स की रिपोर्ट में हुआ है

करोड़पति

यही नहीं गरीब राज्य बिहार में एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार बिहार विधानसभा चुनाव 2020 के पहले चरण के लिए उम्मीदवारो में करोड़पतिओ की भी कोई कमी नहीं है। इसमें भी राजद यानी लालू यादव की पार्टी आरजेडी में बाजी मारी है। एडीआर की रिपोर्ट के अनुसार विश्लेषण में पाया गया कि 9% उम्मीदवारों में के पास 5 करोड़ से अधिक की संपत्ति है। जबकि 12% के पास 2 से 5 करोड़ के बीच में संपत्ति है , और 28 परसेंट दो उम्मीदवारों के पास 50 लाख से दो करोड़ रुपए तक की संपत्ति है । 1064 कैंडिडेट में 35 परसेंट उम्मीदवारों के पास 1 करोड़ से अधिक की संपत्ति है । आरजेडी के पास करोड़पति उम्मीदवारों की संख्या सबसे ज्यादा है । आरजेडी एक मात्र ऐसी पार्टी है , जिसमें 95% कैंडिडेट ऐसे हैं जिनकी संपत्ति 1 करोड़ से अधिक है।

शीक्षा

वही हम अगर शिक्षा की बात करें तो अधिकतर यानी 43 प्रतिशत ऐसे कैंडिडेट हैं जिन्होंने अपनी शिक्षा पांचवी से 12वीं तक के बीच में ही पढ़ाई की है ।जबकि 49 % लोग ऐसे हैं जिन्होंने बना स्नातक पहुंच पाए हैं । वही प्रथम चरण के चुनाव में केवल 11 परसेंट ही महिलाएं हैं।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •