छत्तीसगढ़ सरकार ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का दरवाजा खटखटाया। जाने क्यों।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

छत्तीसगढ़: छत्तीसगढ़ राज्य को केंद्र सरकार द्वारा जीएसटी क्षतिपूर्ति की राशि अभी तक प्राप्त नही हुई है। केंद्र सरकार को राज्य सरकार छत्तीसगढ़ को GST क्षतिपूर्ति लगभग 3000 करोड रुपए से अधिक मिलना है , जो कि अभी तक यह राशि दी गई है । ऐसे में छत्तीसगढ़ सरकार ने रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया का दरवाजा खटखटाया है । ताकि वहां से कर्ज मांग सके । छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों ने 16,725 करोड़ रुपए की राशि की मांग कि है। जबकि छत्तीसगढ़ की बात करें तो छत्तीसगढ़ सरकार ने इसी महीने में 1000 करोड़ के लिए आवेदन किया है जो कि यह OCTOBER माह में दूसरी बार था ।

CORONA की वजह से राज्य सरकारों का राजस्व प्रभावित हो रहा है । जिसके कारण उन्हे कर्ज के लिए आवेदन करना पड़ रहा है। छत्तीसगढ़ समेत आंध्र प्रदेश, गुजरात ,हरियाणा ,कर्नाटक, पंजाब ,राजस्थान, तमिलनाडु, तेलंगाना और उत्तराखंड राज्य सरकार ने बैंक ऑफ इंडिया के पास कर्ज के लिए आवेदन कर चुकी है।

सभी राज्य सरकार का कहना है कि वह यह कर्ज अपने-अपने राज्यों में हो रहे विभिन्न विकास कार्यों के लिए मांग रहे हैं । वहीं छत्तीसगढ़ सरकार का कहना है कि 1 नवंबर को राज्य स्थापना दिवस के मौके पर राजीव गांधी किसान योजना निधि की तीसरी किस्त देने की घोषणा की गई है, जिसके फलस्वरूप उन्हें किसानों को ये राशि देने के लिए कर्ज ना पड़ रहा है ।

छत्तीसगढ़ के अफसरों का कहना है कि अगर प्रदेश को GST की क्षतिपूर्ति की राशि मिल गई होती तो यह कर्ज उन्हे लेने की जरूरत नहीं पड़ती । छत्तीसगढ़ सरकार 2020 में अब तक तीन बार कर्ज आरबीआई के माध्यम से ले चुकी है जिसमें पहला कर्ज आर बी आई ने 13 सौ करोड़ रुपए का अगस्त में दिया था। उसके बाद सितंबर में ₹700 करोड़ रुपए का कर्ज दिया। उसके बाद करने अक्टूबर के माह में हजार करोड रुपए का कर्ज लिया गया । इससे अभी अनुमान लगाया जा रहा है कि राज्य सरकार पर कुल कर्ज का बोझ 60,000 करोड़ रुपए तक पहुंच चुका है।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •