केरल के पलक्कड़ में आदिवासी प्रदर्शन करते हुए पुलिस कर्मियों के पैरों में गिर गए। जाने क्यों

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

kerala palakkad news: केरल के पलक्कड़ जिले से बहुत ही भावुक घटना सामने आयी है। पलक्कड़ जिले स्थित चेम्मनपैथी के पहाड़ी के समीप बहुत से आदिवासी (ST ) परिवार रहते हैं। ये लोग ना जाने कितने वर्षों से अपने इलाके में सड़क बनने की याचिका दे रहे थे । जिनमे वे स्थानीय निकाय प्रशासन, जिला प्रशासन और राज्य को भी सड़क बनाने का अनुरोध किया था, लेकिन अफसोस की बात है कि उनके लाख कोशिश और आवेदन के बाद भी वहां सड़क निर्माण नहीं हो पाया ।

kerala palakkad news

अंततः उन लोगों ने ठान लिया की वे स्वयं ही जंगल काट कर अपने लिए रास्ता बनाएंगे । उन लोगों ने यह संकल्प भी लिया कि 10 दिनों के अंदर वह अपने इलाके में सड़क का निर्माण कर लेंगे। यह तय करते हुए उन्होंने सड़क निर्माण का कार्य करना शुरू कर दिया। जिसमें लगभग 150 आदिवासियों के परिवार वालों ने हिस्सा लिया और 15 किलोमीटर लम्बी सड़क का नर्माण करने में जुट गए ।

इतने में केरल वन विभाग को खबर मिली और उन्होंने आदिवासियों के खिलाफ 720 से अधिक मामले दर्ज किए और पुलिस प्रशासन आकर इन्हें कार्य करने से रोक दिया । यह सब देखते हुए सैकड़ों आदिवासी प्रदर्शन करते हुए पुलिस कर्मियों के पैरों में गिर गए जिसमें ज्यादातर महिलाएं ही थी। आदिवासी पुलिस कर्मियों से गुहार करने लगे कि हमें कृपया सड़क बनाने की अनुमति दें ।आदिवासी भी चाहते हैं कि उनके पास भी डेवलपमेंट पहुंचे और वह सड़क के जरिए और भी विकास कर पाए।

आदिवासियों का कहना है कि उनके इलाके में केवल 1 निम्न प्राइमरी स्कूल है ,उच्च शिक्षा की पढ़ाई करने हेतु उनके बच्चों को जंगल के रास्ते से गुजरना पड़ता था और उन्हें काफी बड़े खतरे का सामना भी करना पड़ता था । इस कारणवश उन लोगों ने सड़क निर्माण करने का सोचा और जंगल काटने लगे।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •