Madhya Pradesh के Ujjain में जहरीली शराब पीने से 14 मजदूरों की मौत हो गई।

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

मध्य प्रदेश के उज्जैन में जहरीली शराब पीने से 14 मजदूरों की मौत हो चुकी है। अब सवाल यह उठता है कि अभी तो 14 मजदूर मरे हैं। और ना जाने कितने लोग होंगे जो जहरीली शराब को खरीदे चुके होंगे। जहरीली शराब को पी कर आगे और कोई इंसान ना मरे इसके लिए पूरी एहतियात बरती जा रही है ।

फिलहाल तो मध्यप्रदेश के पूर्व सीएम कमलनाथ ने मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को शराब माफयाओं को लेकर घेरा है। उन्होंने कहा है कि हमारे समय में शराब माफियाओं पर लगाम लगाया गया था । लेकिन आज फिर से शराब माफियाओं का राज मध्यप्रदेश में लौट आया है। साथ ही उन्होंने ये भी कहा कि मुझे कोई दबा नहीं सकता और मुझे कोई पटा नहीं सकता।

मध्य प्रदेश के पुलिस का कहना है कि इस मामले में चार पुलिसवालों को सस्पेंड कर दिया गया है , जिसमें एक थाना इंचार्ज, एक सब इंसपेक्टर और दो कॉन्स्टेबल भी शामिल है। इन लोगों पर लापरवाही बरतने का इल्जाम लगाया गया है ,और उन्हें सस्पेंड कर दिया गया है। और 10 लोगों को गिरफ्तार भी कर लिया गया है। जांच के लिए एक एसआईटी कि टीम गठित की गई है। जिसका नेतृत्व राजेश राजू राव कर रहे है। उन्होंने बताया है, कि जितने डीलर और सप्लायर हैं उनको आगाह किया जा रहा है कि कोई भी ऐसे जहरीली शराब का सेवन ना कर पाए । साथ ही यह भी पता लगाने की कोशिश की जा रही है कि ज़हरीली शराब मजदूरों तक कैसे पहुंची।


  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •